eng
competition

Text Practice Mode

BUDDHA ACADEMY TIKAMGARH (MP) || ☺ || ༺•|✤आपकी सफलता हमारा ध्‍येय✤|•༻

created Nov 26th 2022, 04:32 by Buddha academy


1


Rating

357 words
55 completed
00:00
माननीय अध्‍यक्ष महोदय, आज बहुत ही अहम दिन है। आज पूरे भारत में महिला सशक्‍तीकरण की बात की जा रही है। हमारे सामने की बैंच पर बैठी हमारी बहन श्रीमती सुमित्रा महाजन ने बहुत ही अच्‍छी बात कही कि हर क्षेत्र में महिलाएं आगे हैं। फिर चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो, खेल-कूद का क्षेत्र हो, हिमालय की चोटी को फतेह करने की बात हो या चन्‍द्रमा पर जाने की। हर क्षेत्र में, हर जगह महिलाएं पहुंच रही हैं। महोदय, हम बार बार आरक्षण की बात कर रहे हैं। मैं चाहती हूं कि क्‍यों नहीं आज यहां जो माननीय सदस्‍य उपस्थित हैं, वे इस महिला आरक्षण बिल को पास कर दें।  
    मैं चाहती हूं कि जो सदस्‍य इसके पक्ष में हैं वे अपने हाथ उठाकर बताएं कि हम सब लोग पास करना चाहते हैं। यहां तो सभी माननीय सदस्‍य इस बिल को पास करना चाहते हैं। अध्‍यक्ष महोदय, हमारे संविधान में महिलाओं को बराबर का अधिकार दिया गया है। जब संविधान हमें बराबर का अधिकार देता है और हम हर क्षेत्र में आगे हैं, तो फिर हम यहां क्‍यों इस तरह की बात करते हैं कि विधानसभाओं तथा संसद के दोनों सदनों में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए। मैं आपके माध्‍यम से सभी से निवेदन करना चाहती हूं कि महिला आरक्षण दिवस के अवसर पर महिला आरक्षण बिल को पास कर के महिलाओं को आरक्षण दिया जाए। सबसे पहले मैं अध्‍यक्ष महोदय का आभार प्रकट करना चाहती हूं, जिन्‍होंने महिलाओं को सम्‍मान देते हुए, महिला सदस्‍यों को बोलने का अवसर दिया। मैं अपने पुरूष सदस्‍यों से यह निवेदन करना चाहूंगी कि वे सदन में शांति बनाकर रखें क्‍योंकि एक ही दिन हम लोगों को बोलने के लिए मिला है। अध्‍यक्ष महोदय, यूपीए सरकार ने वायदा करके भी महिला आरक्षण विधेयक संसद के पिछले सत्र में पेश नहीं किया था। ऐसा करके विश्‍वासघात किया गया है। अध्‍यक्ष महोदय, आज अन्‍तर्राष्‍ट्रीय महिला दिवस है, हम मांग करते हैं कि सरकार महिला आरक्षण का अपना वायदा पूरा करे और संसद के इसी सत्र में इस विधेयक को पेश किया जाये। अध्‍यक्ष महोदय, आपने इतने महत्‍वपूर्ण विषय पर मुझे बोलने का अवसर दिया, इसके लिए धन्‍यवाद देता हूं।  

saving score / loading statistics ...